सिंदूर से पति का वशीकरण मंत्र

सिंदूर से पति का वशीकरण मंत्र
सिंदूर से पति का वशीकरण मंत्र

सिंदूर से पति का वशीकरण मंत्र

सिंदूर से पति का वशीकरण मंत्र, लाल या नारंगी रंग का सिंदूर विवाहित महिलाओं के लिए सुहाग और सौभाग्य का प्रतीक है। इस महीन पाउडर से भारत में स्त्रियां जहां पति के लंबी आयु की कामना के लिए अपनी मांग सजाती हैं, वहीं इसका इस्तेमाल विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों और सौंदर्य प्रसाधनों के तौर पर भी किया जाता है। इसमें  आध्यात्मिक शक्ति और अटूट विश्वास की भावना छिपी हुई है।

सिंदूर से पति का वशीकरण मंत्र
सिंदूर से पति का वशीकरण मंत्र

सिंदूर के साथ वशीकरण मंत्र का उपयोग कर स्त्रियां अपने पति को अपने वश में बनाए रखती हैं। मान्यताओं के अनुसार सिंदूर का उपयोग सम्मान प्राप्त करने, परेशानियां दूर करने, घनागमन और आर्थिक तंगी से मुक्ति, वास्तुदोष सुधारने, ग्रहों की शांति, रक्त विकार दूर करने एवं परीक्षा में सफलता इत्यादि के लिए किया जाता है। इसके साथ ही सिंदूर और तंत्र-मंत्र के जरिए पति को वशीकरण करने के कुछ सरल और कारगर उपाय इस प्रकार हैंः-

कामियां सिंदूरः

सिंदूर के एक प्रकार में कांमिया सिंदूर भी है। यह खास किस्म के पत्थर से प्राप्त होता है, जो लाल और काले रंग का होता है। शुक्ल पक्ष में रविवार के दिन नीचे दिए गए मंत्र को विधि-विधान के साथ जाप से कामिया सिंदूर को अभिमंत्रित कर सिद्ध कर लिया जाता है। उसके बाद ही वशीकरण के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है। इस तरह की सिद्धि घर के एकांत स्थान, मंदिर या फिर तंत्र-साधना के लिए प्रसिद्ध कामाख्या मंदिर में किया जा सकता है।

पति पर वशीकरण प्रयोग से पहले अभिमंत्रित सिंदूर को एक चुटकी लेकर उसी मंत्र को सात बार मन ही मन में पढ लें और पति के माथे पर तिलक के रूप में लगा दें। यह कार्य दैनिक पूजा के दौरान किया जाना चाहिए और पति को इस बात का जरा भी एहसास नहीं होना चाहिए कि तिलक लगाना एक टोटके के लिए किया गया है। सिंदूर सिद्धि और उपयोग का यह मंत्र दो हिस्से में बंटा हुआ है। वह मंत्र इस प्रकार हैः-

सिद्धि  मंत्र

हथेली पर हुनमान बसे, बसे भैरों कपार!

नरसिंह देव की मोहिनी, मोहे सकल संसार!

नजर सबकी बांध दे, तुझे चढ़ाऊं तेल सिंदूर!

तेल सिंदूर कहां से आया, कैलाश पर्वत से आया!

कौन लाया, अंजनी का पूत गौरी का गणेश लाया!

उपयोग का मंत्रः उपर के मंत्र का उपयोग सिंदूर सिद्धि के लिए किय जाता है, जबकि इसका दूसरा हिस्सा सिद्ध सिंदूर के उपयोग में लाने के समय किया जाता है।

काला गोरा तोतला बसे तीनों कपार, बिंदा तेल सिंदूर का दुश्मन का गया पताल!

दुहाई कामिया सिंदूर की, देख हमें शीतल हो जाए!

अचूक वशीकरण

पति को वशीकरण करने के लिए यहां बताया जाने वाला उपाय बहुत ही अचूक साबित होता है। खासकर वैसे पति का वशीकरण किया जा सकता है, जो परस्त्री के मोहपाश में फंस गया हो, या फिर किसी व्यसन का शिकार हो गया हो। कामिया सिंदूर को शुद्ध केसर और लाल चंदन के साथ मिलाकर एक खास तरह का थोड़ा गाढ़ा घोल बना लें।

उससे एक भोजपत्र या पान के पत्ते पर गुड़िया की आकृति बनाएं और धूप-दीप दिखाकर उसकी आस्था के साथ पूजा करें। उसके बाद हवन की सामग्री से नीचे दिए गए मंत्र का जाप करते हुए 108 बार हवन की आहूति दें। मंत्र में अमुक शब्द के स्थान पर पति का नाम का उच्चारण करें। मंत्र हैः– ओम हीं क्तीं, अमुक आकर्षय मम वश्य कुरू कुरू स्वाहा।

हवन के लिए कुछ सावधानी बरतने की भी जरूरत है। जैसे कि यह किसी खुले स्थान पर करें। हवन सामग्री में सामथ्र्य के अनुसार गाय की घी का इस्तेमाल करें। अनुष्ठान का उद्देश्य गुप्त रखें। हो सके तो मंत्र जाप अपने मन में ही करें। पूजन सामग्री में फल या मिठाई का प्रसाद रखें ओर प्रसाद सबसे पहले पति को खिलाएं।

लौंग और सिंदूर

पति या प्रेमी को अपने वश में बनाए रखने के लिए किया जाने वाला यह टोटका जितना तांत्रिक प्रभाव देता है उतनी तेजी से इसके मंत्र का असर भी होता है। यह तीन चरणों में संपन्न होेने वाली प्रक्रिया  है। पहले चरण में प्रयोग के लिए शुक्रवार का दिन चुनें और प्रातः तीन बजे से आरंभ करने की तैयारी करें।

सिंदूर से पति को वश में करने का उपाय

एक डिब्बी सिंदूर के साथ-साथ तीन लौंग, एक कटोरी देसी घी, रूई की एक बाती, माचिस और छोटे से कलश आकरा के तांबे के बर्तन में पानी लें। स्नान आदि के बाद पहले तीन लौंग को सिंदूर की डिब्बी में रखकर निकलने के बाद पानी मे ंडूबो दें। घी लगी रूई की बाती को जालाएं और निम्न मंत्र का 1100 बार जाप करें। इस तरह से लौंग की सिद्धि हो जाती है। इसे संभाल कर रख दें। दूसरे शुक्रवार को दूसरे चरण का प्रयोग करें।

सिद्ध लौंग में दोबारा 11 बार वशीकरण मंत्र का पाठ करें और उसे फिर संभालकर रख दें। तीसरे शुक्रवार को सिद्ध लौग वशीकरण किए जाने व्यक्ति को उसके पसंद की खाने की सामग्री के साथ खिला दें या फिर आसपास रख दें। तीसरे चरण के इस प्रयोग के बाद उस व्यक्ति में बदलाव दिखना शुरू हो जाएगा। इस प्रयोग के संबंध में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसकी साधना सकारात्मक काम के लिए किया जाना चाहिए। सिद्धि का मंत्र इस प्रकार हैः-

ओम तत भार्वय् नमो नम, या रूद्र या मोहिनी कर, मैं अमुक सिद्धो नमो स्वाहा यहां अमुक शब्द के स्थान पर वशीकरण किए जाने वाले व्यक्ति के नाम का उच्चारण करना चाहिए।

पति को रिझाने-मनाने के टोटके

  • पति -पत्नी के बीच के मनमुटाव या पति वियोग को सिंदूर के प्रभाव से दूर किया जा सकता है। इसके लिए पत्नी प्रातः स्नान के बाद पति की तस्वीर के सामने जाए और अपनी मांग में सिंदूर भरे। तस्वीर उसे देखती हुई होनी चाहिए। एक सप्ताह तक इस टोटके को आजमाने का लाभ निश्चित तौर पर मिलता है।
  • नाराज या किसी दूसरी स्त्री के प्यार में पड़ चुके पति को अपने वश में लाने के लिए एक पान का पत्ता लें। उसमें फिटकरी और सिंदूर रखें। उसे मोड़कर कच्चे धागे से बांध दें और बुधवार के दिन पीपल के पेड़ के नीचे किसी पत्थर के नीचे लोगों की नजर बचाकर दबा दें। ऐसा तीन बुधवार को करने से पति में मनोवांछित परिवर्तन देखने को मिलेगा।
  • सिद्ध सिंदूर के उपयोग से अक्सर बीमार रहने वाले पति को ठीक होने की कामना की जा सकती है। इसके लिए होली का अवसर चुनें। पांच विवाहिताओं के साथ सिर्फ सिंदूर की होली खेलें। उसमें एक चुटकी सिद्ध सिंदूर मिला लें। उसके बाद उन्हें चूड़ी, सिंदूर, बिंदी आलता आदि सुहाग की सामग्री उपहार में दें।

विवाह वशीकरण मंत्र

[Total: 4    Average: 3.8/5]
About वशीकरण मैरिज गुरूजी 26 Articles
वशीकरण मैरिज, अपने प्यार से हर लवर शादी करना चाहता है. वैसे भी एक सच्चे प्यार का मुकाम शादी होता है, फिर भी लव मैरिज मे कई बार बहुत हे मुसीबतों का सामना करना पड़ता है जैसे घर वाले, जाती, पैसा, एक तरफ़ा प्यार, इत्यादि. ये कारन सुनने मे बहुत सिंपल लगते है पैर उनसे पूछो जिनकी शादी इनके कारन न हो पायी है. वशीकरण मैरिज के द्वारा अब आपको अपने लवर से शादी करने मे कोई दिक्कत नहीं आएगी. बस अब आपको एक फ़ोन लगाना है और अपने सच्चे प्यार से शादी के बंधन मे बंध जाना है.