शत्रु वशीकरण

शत्रु वशीकरण
शत्रु वशीकरण

शत्रु वशीकरण

शत्रु वशीकरण टोटके, शत्रु वशीकरण प्रयोग, शत्रु नाशक मंत्र

उम्मीद करते है की वशीकरण आप लोगों के लिए कोई नया या अंजान शब्द नहीं होगा। आज हर कोई इसे जानता व समझता है। वशीकरण, जादू-टोटका व मंत्र विद्या का इस्तेमाल सिर्फ भारत मे ही नहीं किया जाता, बल्कि विदेशों मे भी लोग अपने-अपने तरीके से इसका इस्तेमाल करते है। black magic से लेकर वशीकरण जैसा विषय लोगों को काफी रोमांचित भी करता है, और इसी के चलते यकीनन आप ने इस मुद्दों पर आधारित किसी न किसी फिल्म को जरूर देखा होगा। अगर आपने कभी वशीकरण की प्रक्रिया को सामने से नहीं देखा हो, तो फिल्मों मे दिखाए गए जादू-टोटके के तरीके कई बार कुछ लोगों को विचलित कर देते है, डरा देते है, तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोगों को इसे देख काफी मज़ा आता है।

शत्रु वशीकरण
शत्रु वशीकरण

इस मुद्दे पर आधारित फिल्में एक अलग बात है, पर असल ज़िंदगी मे बात की जाये तो अक्सर देखा गया है की वशीकरण की प्रक्रिया को बड़े ही गुप्त तरीके से अंजाम दिया जाता है। जिसके चलते बहुत से लोग इसे संदेह की निगाह से देखते हुए अच्छा नहीं मानते। पर जो लोग इसकी ताकत पर भरोसा करते है, उनके लिए जादू-टोटका व वशीकरण विद्या बड़े कमाल की चीज़ साबित होती है। हर इंसान की कोई न कोई इच्छा जरूर होती है, अब वो व्यक्ति किस प्रकार अपनी इच्छाओं को पूरा करना चाहता है, वो पूर्ण रूप से उसकी पसंद पर निर्भर करता है।

तो चलिये उदाहरण के तौर पर बात करे एक ऐसे इंसान की जो कामियाब होने की उम्मीद रखता है, पर अपने मार्ग मे आने वाली बाधाओं से खासा परेशान है। लगातार प्रयास करने के बाद भी मिल रही विफलताए अक्सर इंसान को अंदर से तोड़ देती है। वो हर मुमकिन कोशिश करता है, लेकिन हर कोशीश बेकार होती चली जा रही है, तो वो जादू-टोटके या वशीकरण विद्या की ओर रुख करता है। संभव है की उसे उसी का कोई दोस्त ऐसा करने की सलाह दे। एक बार आदमी का रुझान वशीकरण की ओर बढ़ जाये, तो उसकी उम्मीद भी बढ़ने लगती है। इस बात के काफी आसार दिखने लगते है कि आपकी असफलता के पीछे किसी शत्रु का हाथ भी हो सकता है। ये कोई नई बात नहीं कि आपसे नफ़रत करने वाला इंसान आपकी कामियाबी से जलन रखता हो, और खुद जादू-टोटके का इस्तेमाल आपके खिलाफ कर रहा हो, तो आप साबुत उड़द की काली दाल के 38 और चावल के 40 दाने आपस मे मिलाकर एक गड्ढ़े मे दबा दे और उसके ऊपर नींबू निचोड़ते हुए शत्रु का नाम लेते रहे। ये शत्रु नाशक एक अच्छा उपाए है।

कई बार यदि शत्रु बिना किसी कारण ही आपको परेशान करे तो ऐसे मे आप भोजपत्र के टुकड़े पर लाल चंदन से शत्रु का नाम लिखकर उसे शहद की डब्बी मे डाल दे। ये उपाय मददगार हो सकता है। शत्रु वशीकरण टोटके के अंतर्गत आप एक और उपाय कर सकते है, जिसमे एक मुट्ठी पिसा नमक लेकर उसे सिर के ऊपर से तीन बार फेर ले और फिर उस नमक को दरवाज़े के बाहर फेक दे। याद रहे ये प्रयोग आपको शाम के समय करना होता है।

अब हम आपको एक ऐसा शत्रु नाशक मंत्र बताते है जिसका इस्तेमाल भी आप कर सकते है। ये मंत्र है – “नृसिंहाय विद्यहे, वज्र नखाय धी मही तन्नो नृसहिं प्रचोदयात!! प्रतिदिन सूर्योदय से पहले इस मंत्र का जाप करने से आप अपने शत्रु पर काबू पा सकते है। अगर आपको कभी ऐसा लगे की पूरी ईमानदारी से अपना काम करने के बाद भी, हर बार आपके काम मे रुकावट आ रही है और उसके पीछे किसी शत्रु के होने की आशंका आपको सताने लगी है। तो बिना किसी चिंता के आप एक और अन्य वशीकरण विद्या का प्रयोग कर सकते है। इसके अंतर्गत सूर्योदय से पहले एक नींबू को चार भाग मे काटकर, अपने हाथ मे पकड़ ले, और अपने ईष्ट देवता की आराधना करते हुए गायत्री मंत्र का 11 बार जाप करे। इसके बाद उस नींबू के चारों भाग को अलग-अलग दिशा मे फेक दे। नींबू को आप किसी चोराहे या फिर खुले मैदान मे अलग-अलग दिशा मे फेक सकते है।

अगर आप इन सबके अलावा भी कोई अन्य उपाय जानना चाहते है तो एक और वशीकरण व टोटके का तरीका हम आपको बताते है और उम्मीद करते है की इसको आजमाने से आपको शत्रु के प्रभाव से छुटकारा जरूर मिलेगा। वशीकरण की इस विधि को करने के लिए जरूरी है कि आप एक मीटर काले कपड़े को ले, फिर उसपर एक किलो काले उड़द को एक किलो कोयले या चारकोल के साथ मिलाकर रख दे और काले कपड़े मे बांध दे। इसके बाद उसे अपने सिर के ऊपर से 21 बार फेरते (घुमाते) हुए हनुमान जी का ध्यान करे। फिर इसके बाद उसे नदी के बहते पानी मे डाल दे। ध्यान रहे की वशीकरण के इस तरीके को आप साथ शनिवार करके  दुश्मन के प्रभाव को खत्म कर सकेंगे।

वैसे कोई भी इंसान किसिसे शत्रुता नहीं करना चाहता, पर कई बार आपकी बढ़ती ख्याति को देख ईर्ष्या करने वालों की संख्या बढ़ने लगते है। ऐसे मे अपनी सफलता के बीच आने वाली रुकावट से निपटने के लिए इंसान अलग-अलग तरीके आजमाता है। इन तरीकों के बीच हमने आपको वशीकरण के उन टोटकों के बारे मे बताया जिसके इस्तेमाल से यक़ीनन आप अपने शत्रु के मन मे पनप रही ईर्ष्या व जलन की भावना को वशीकरण करके, उसके मन मे अपने प्रति दोस्ती की भावना जगा सकते है। साथ ही ये कहना गलत नहीं होगा की अच्छी भावना से किया कोई भी काम सफलता दिलाता है। अब ये आपको सोचना है की शत्रु के खिलाफ टोटके का प्रयोग आप किसी भावना के साथ कर रहे है।

 

 

[Total: 2    Average: 4/5]
About वशीकरण मैरिज गुरूजी 26 Articles
वशीकरण मैरिज, अपने प्यार से हर लवर शादी करना चाहता है. वैसे भी एक सच्चे प्यार का मुकाम शादी होता है, फिर भी लव मैरिज मे कई बार बहुत हे मुसीबतों का सामना करना पड़ता है जैसे घर वाले, जाती, पैसा, एक तरफ़ा प्यार, इत्यादि. ये कारन सुनने मे बहुत सिंपल लगते है पैर उनसे पूछो जिनकी शादी इनके कारन न हो पायी है. वशीकरण मैरिज के द्वारा अब आपको अपने लवर से शादी करने मे कोई दिक्कत नहीं आएगी. बस अब आपको एक फ़ोन लगाना है और अपने सच्चे प्यार से शादी के बंधन मे बंध जाना है.