घर में सुख शांति के उपाय

घर में सुख शांति के उपाय
घर में सुख शांति के उपाय

घर में सुख शांति के उपाय

गृह कलह से मुक्ति के ज्योतिष उपाय – जैसा कि आप यह जानते हैं कि सभी सुख शांति से जीना चाहते हैं | हर व्यक्ति चाहता है कि उसका जीवन शांतिपूर्ण वातावरण में चलता रहे | परंतु, हमारे या आपके या किसी के भी चाहने से क्या होगा ? सभी जानते हैं कि हर घर में कुछ ना कुछ परेशानी और क्लेश रहता ही है | आए दिन परिवार के सदस्यों में मनमुटाव होता ही रहता है | फिर चाहे पर पिता-पुत्र हो या सास-बहू, पति पत्नी हो या भाई बहन ही क्यों ना हो | बात अगर थोड़ी सी हो तो फिर भी जीवन शांति से जिया जा सकता है लेकिन जब मामला तूल पकड़ लेता है तो व्यक्ति का जीवन दूभर हो जाता है चाहे वह कितना ही साधन-संपन्न ही क्यों न हो | और आपको पता ही है कि रिश्ते बड़े नाजुक डोर से बंधे होते हैं | आप यह भी जानते ही हैं कि ‘ जहाँ क्लेश.. वहाँ लक्ष्मी का नाश | इसके साथ साथ कलह से  जीवन की खुशी भी गायब | तो आप के जीवन की खुशहाली सदा बरकरार रहे इसके लिए आप हमारे द्वारा सुझाए गए “गृह क्लेश से मुक्ति के ज्योतिष उपाय’ अपनाएं और खुश रहें |

घर में सुख शांति के उपाय
घर में सुख शांति के उपाय

यहां हम आपके लिए लेकर आ रहे हैं गृह क्लेश मुक्ति के कुछ ज्योतिष उपाय, जिन्हें अपनाने से जीवन को खुशियां से भर प्रगति के मार्ग पर ले जाया जा सकता है | यह उपाय हैं–

१) घर में सुख शांति के उपाय में सबसे महत्वपूर्ण है ईश्वर की उपासना | अगर मां -बाप या पति पत्नी के बीच में मनमुटाव हो हर दिन गणेश जी की उपासना करें और बूंदी के लड्डू का भोग लगाएं |

२)  पति-पत्नी में कलह रहने पर प्रतिदिन स्नानोपरांत शिव उपासना करें और उनका जलाभिषेक करें | साथ ही साथ “ओम नमः शिवाय” मंत्र का १०८ बार जाप करे |

३) नियमित रूप से हनुमानजी की उपासना आपको सभी प्रकार के गृह कलेश और संकट से दूर करने में सहायक सिद्ध होती

है |

४) हर शनिवार और मंगलवार को हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाने से भी घर में सुख शांति का वास होता है |

५) इसके अलावा गृह क्लेश से पीड़ित महिला लाल कलम से भोजपत्र पर अपने पति का नाम लिखे तथा “ हं हनुमंते नमः” का २१ बार उच्चारण करते हुए उस पत्र को घर के किसी कोने में रखे  तब भी गृहक्लेश दूर होता है |

६) रिश्तो में तनाव और मतभेद दूर करने के लिए कुमकुम लगा कर गेंदे के फूल को किसी देव मूर्ति के सामने रखें |

७) घर में व्याप्त क्लेश के निवारण के लिए रात को सोते समय पति पत्नी अपने अपने तकिए में एक पुड़िया में सिंदूर और कपूर रखें | अब दूसरे दिन सूर्योदय से पहले उठकर कपूर को निकाल कर अपने कमरे में जला दे और सिंदूर की पुड़िया घर से बाहर फेंक दें | यह एक चमत्कारी टोटका है |

८) पति पत्नी के रिश्ते में यदि अत्यधिक तनाव बढ़ गया है तो घर के दक्षिण दिशा में “हलूं बलजाद” कहते हुए ३ गोमती चक्र फेंके | यह मंत्र तनाव से राहत दिलाता है |

८) एक अन्य टोटका घर क्लेश के निवारण के लिए यह है कि लाल सिंदूर की डिब्बी में पांच गोमती चक्र को रखे | अब इसे पूजा- स्थान या श्रृंगार वाले जगह पर रखें | इससे भी आपके घर में सुख और शांति बनी रहेगी |

९)  पत्नी – पति आपस में मनमुटाव दूर करने के लिए शयन कक्ष में शुक्र यंत्र की स्थापना करें |

१०) घर के सदस्यों में अगर आपस में मनमुटाव हो तो घर में पूजा स्थान में बाधा मुक्ति यंत्र की स्थापना करें |

११) अगर केतु ग्रह के कारण किसी के घर में कलह हो तो उसे केतु मंत्र का जाप और उसकी वस्तुओं का दान करना चाहिए | इसके अलावा तथा केतु यंत्र की पूजा और ९ मुखी रुद्राक्ष को व्यवहार किया जा सकता है |

१२) राहु से संबंधित गृह-क्लेश हो तो ८ मुखी रुद्राक्ष धारण करें | इसके साथ-साथ राहु के मंत्र का जाप और राहु का दान करें | १३) राहु का असर कम करने के लिए घर मे कभी भी जाले न रहने दें |

१४) शनि ग्रह से संबंधित अशान्ति के लिए शनि की शांति करनी चाहिए | इसके साथ शनि की वस्तुओं का दान करें | इसके अलावा सात मुखी रुद्राक्ष धारण करने से फायदा होता है |

१५) पति पत्नी के सोने वाले स्थान के सामने अगर आयना हो तो उसे भी दूर करना चाहिए | सोते वक्त आईना में पड़ता हुआ पति-पत्नी का प्रतिबिंब उनमें मनमुटाव पैदा करता है | १६) कपूर और अष्टगंध की सुगंध प्रतिदिन घर में फैलाए | यह भी आपसी मननुटाव को दूर करने में सहायक है |

१७) पंचमुखी दीपक घी का हर मंगलवार को पूजा स्थान पर जलाएं |

१८) धूप, दीप, आरती जैसे पवित्रता के प्रतिक साधनों को कभी भी मुंह से फूंक मारकर ना बुझाए |

१९) घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक बनाए बाई तरफ |

२०) उल्टे-सीधे या इधर-उधर बिखरे हुए जूते-चप्पलों को कभी भी न रखें | इससे घर में अशांति उत्पन्न होती है |

२१) झाड़ू पर कभी न पैर लगाएं ना उसके ऊपर से जाए | उसे खड़ा करके भी न रखें |

२२) डूबते हुए जहाज की तस्वीर अगर घर में है उसे तुरंत हटाए | यह दुर्भाग्य का सूचक है | इससे परिवार के सदस्य में मनमुटाव और आपसी मतभेद पड़ जाता है |

२३) सावधान! अगर राक्षसों और भूत-प्रेत की तस्वीर से आपने अपने घर को सजाया है है और उसे तुरंत हटा दें | यह नकारात्मक ऊर्जा का संचार करते हैं | इससे भी घर में रहने वाले व्यक्तियों के मन में मनमुटाव पैदा हाता है |

२४) इसके अलावा आपस में अगर एक दूसरे के प्रति तालमेल बढ़ाना है तो हिंसक पशुओं की तस्वीर को घर में कतई स्थान ना दें |

२५)  गृह क्लेश से मुक्ति पाने के लिए निम्नलिखित मंत्र भी बहुत कारगर सिद्ध हुआ है–

“धाम धिम धूम धुर्जटे |

पत्नी वां वीं वुम वागधिश्वरी ||

क्राम क्रीम कृम कालिका देवी |

शाम शिम शुम शुभम कुरु ||” प्रातः काल स्नानोपरांत दुर्गा जी की तस्वीर पर लाल पुष्प अर्पण कर और धूप जला कर प्रतिदिन एक माला का जाप करने से सुख और शांति की प्राप्ति निश्चय ही होगी |

 

[Total: 2    Average: 3.5/5]
About वशीकरण मैरिज गुरूजी 26 Articles
वशीकरण मैरिज, अपने प्यार से हर लवर शादी करना चाहता है. वैसे भी एक सच्चे प्यार का मुकाम शादी होता है, फिर भी लव मैरिज मे कई बार बहुत हे मुसीबतों का सामना करना पड़ता है जैसे घर वाले, जाती, पैसा, एक तरफ़ा प्यार, इत्यादि. ये कारन सुनने मे बहुत सिंपल लगते है पैर उनसे पूछो जिनकी शादी इनके कारन न हो पायी है. वशीकरण मैरिज के द्वारा अब आपको अपने लवर से शादी करने मे कोई दिक्कत नहीं आएगी. बस अब आपको एक फ़ोन लगाना है और अपने सच्चे प्यार से शादी के बंधन मे बंध जाना है.